Tuesday, February 18, 2020

Shri Durga Chalisa in Hindi [शक्तिशाली श्री दुर्गा चालीसा]

Shri Durga Chalisa दुर्गा चालीसा – देवी दुर्गा शक्ति का प्रतीक हैं.

श्री दुर्गा चालीसा चालीस छन्दों की प्रार्थना है और इसे माँ दुर्गा को संबोधित किया जाता है. यह देवी दुर्गा की सुंदरता, लचीलापन, शक्ति, महिमा और साहस का वर्णन करती है। दुर्गा माता के भक्त अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए दुर्गा चालीसा गाते हैं।

Shri Durga Chalisa mantra lyrics

Shri Durga Chalisa mantra lyrics
माँ दुर्गा – आदि शक्ति

दिव्य माँ दुर्गा आदि-शक्ति का प्रकट रूप हैं जो स्वार्थ, ईर्ष्या, पूर्वाग्रह, घृणा, क्रोध और अहंकार जैसी बुरी शक्तियों को नष्ट करके मानवता को बुराई और संकट से निकाल देती हैं।

हालाँकि, माँ दुर्गा को कई नामों, पहलुओं और व्यक्तित्वों द्वारा याद किया जाता है। मां की स्‍तुति के लिए शास्‍त्रों में भी चालीसा पाठ को सर्वोत्‍तम माना गया है.

मां दुर्गा की पूजा करने से भक्त को आजीवन धन और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। हिंदू पौराणिक कथाएं उसे एक योद्धा की तरह राक्षस महिषासुर के वध के रूप में याद करती हैं।

यहां सभी पाठकों के लिए प्रस्तुत है पवित्र श्री दुर्गा चालीसा। (Shri Durga Chalisa Lyrics)

Shri Durga Chalisa in Hindi

[Shri Durga Chalisa Aarti, Shri Durga Chalisa Mantra]

नमो नमो दुर्गे सुख करनी। नमो नमो दुर्गे दुःख हरनी॥
निरंकार है ज्योति तुम्हारी। तिहूँ लोक फैली उजियारी॥
शशि ललाट मुख महाविशाला। नेत्र लाल भृकुटि विकराला॥
रूप मातु को अधिक सुहावे। दरश करत जन अति सुख पावे॥1॥

तुम संसार शक्ति लै कीना। पालन हेतु अन्न धन दीना॥
अन्नपूर्णा हुई जग पाला। तुम ही आदि सुन्दरी बाला॥
प्रलयकाल सब नाशन हारी। तुम गौरी शिवशंकर प्यारी॥
शिव योगी तुम्हरे गुण गावें। ब्रह्मा विष्णु तुम्हें नित ध्यावें॥2॥

रूप सरस्वती को तुम धारा। दे सुबुद्धि ऋषि मुनिन उबारा॥
धरयो रूप नरसिंह को अम्बा। परगट भई फाड़कर खम्बा॥
रक्षा करि प्रह्लाद बचायो। हिरण्याक्ष को स्वर्ग पठायो॥
लक्ष्मी रूप धरो जग माहीं। श्री नारायण अंग समाहीं॥3॥

क्षीरसिन्धु में करत विलासा। दयासिन्धु दीजै मन आसा॥
हिंगलाज में तुम्हीं भवानी। महिमा अमित न जात बखानी॥
मातंगी अरु धूमावति माता। भुवनेश्वरी बगला सुख दाता॥
श्री भैरव तारा जग तारिणी। छिन्न भाल भव दुःख निवारिणी॥4॥

केहरि वाहन सोह भवानी। लांगुर वीर चलत अगवानी॥
कर में खप्पर खड्ग विराजै ।जाको देख काल डर भाजै॥
सोहै अस्त्र और त्रिशूला। जाते उठत शत्रु हिय शूला॥
नगरकोट में तुम्हीं विराजत। तिहुँलोक में डंका बाजत॥5॥

शुम्भ निशुम्भ दानव तुम मारे। रक्तबीज शंखन संहारे॥
महिषासुर नृप अति अभिमानी। जेहि अघ भार मही अकुलानी॥
रूप कराल कालिका धारा। सेन सहित तुम तिहि संहारा॥
परी गाढ़ सन्तन र जब जब। भई सहाय मातु तुम तब तब॥6॥

अमरपुरी अरु बासव लोका। तब महिमा सब रहें अशोका॥
ज्वाला में है ज्योति तुम्हारी। तुम्हें सदा पूजें नरनारी॥
प्रेम भक्ति से जो यश गावें। दुःख दारिद्र निकट नहिं आवें॥
ध्यावे तुम्हें जो नर मन लाई। जन्ममरण ताकौ छुटि जाई॥7॥

जोगी सुर मुनि कहत पुकारी।योग न हो बिन शक्ति तुम्हारी॥
शंकर आचारज तप कीनो। काम अरु क्रोध जीति सब लीनो॥
निशिदिन ध्यान धरो शंकर को। काहु काल नहिं सुमिरो तुमको॥
शक्ति रूप का मरम न पायो। शक्ति गई तब मन पछितायो॥8॥

शरणागत हुई कीर्ति बखानी। जय जय जय जगदम्ब भवानी॥
भई प्रसन्न आदि जगदम्बा। दई शक्ति नहिं कीन विलम्बा॥
मोको मातु कष्ट अति घेरो। तुम बिन कौन हरै दुःख मेरो॥
आशा तृष्णा निपट सतावें। मोह मदादिक सब बिनशावें॥9॥

शत्रु नाश कीजै महारानी। सुमिरौं इकचित तुम्हें भवानी॥
करो कृपा हे मातु दयाला। ऋद्धिसिद्धि दै करहु निहाला॥
जब लगि जिऊँ दया फल पाऊँ । तुम्हरो यश मैं सदा सुनाऊँ ॥
श्री दुर्गा चालीसा जो कोई गावै। सब सुख भोग परमपद पावै॥10॥

Shri Durga Chalisa lyrics
Shri Durga Chalisa lyrics


Shri Durga Chalisa में अंतर्दृष्टि

यह कट्टर भक्ति गीत है जिसे देवी दुर्गा की स्तुति में गाया जाता है। यह भी दुर्गा मंत्र के रूप में दोगुना है जो चालीस छंदों से बना है। सर्वोच्च चेतना के मार्ग पर चलने के लिए, दुर्गा चालीसा का जप करने से अधिक कोई शरण नहीं है।

यदि वह इस चालीसा का पालन करता है, तो उसके जीवन में समृद्धि और शांति को रोकने के लिए दिव्य आशीर्वाद का आह्वान करना निश्चित है। इस चालीसा को लंबे समय तक याद रखने में महीनों लग सकते हैं लेकिन किसी को उसकी हार्दिक भक्ति के बारे में सावधानी बरतनी चाहिए।

श्री दुर्गा चालीसा का जाप करने के लाभ

दुर्गा मंत्र जप के कुछ प्रमुख लाभों के बारे में नीचे जानिए-
  • जो व्यक्ति प्रतिदिन दुर्गा चालीसा का जाप करता है, वह उसकी सफलता की राह में आने वाली बाधाओं को दूर करने में सक्षम होगा।
  • व्यक्ति आध्यात्मिक ऊर्जा से लथपथ अधिक उत्साही महसूस करेगा।
  • वह व्यक्ति अधिक समय तक जीवित रहेगा और इसलिए उसके प्रियजन भी उसके साथ रहेंगे.
  • ऐश्वर्य, धन और ज्ञान उसके घर में स्थायी निवासी होंगे।
  • वह निश्चित रूप से उस व्यक्ति पर जीतने में सक्षम होगा जो वह उससे शादी करना पसंद करता है।
  • इस Durga Chalisa Mantra का नियमित रूप से जाप किया जाए तो विभिन्न घातक रोग ठीक हो जाएंगे।
  • दुर्गा चालीसा का कंपन मन को सकारात्मक विचारों से भर देता है जिससे मन को सुकून मिलता है।
  • छात्र विनम्र शैक्षिक सफलता प्राप्त करेंगे और कक्षा में टॉपर भी बन सकते हैं।
  • इस Durga Chalisa Mantra का जप बुरी नजर को दूर करने का सर्वोपरि उपाय है।
  • आपके दुश्मन इस मंत्र के सार में कामतार महसूस करेंगे।

श्री दुर्गा चालीसा मानव जीवन में कई अन्य उथल-पुथल का एकतरफा समाधान है। यदि आप इस श्री चालीसा के प्रति समर्पित हैं, तो आप अपने जीवन में महत्वपूर्ण सकारात्मक बदलाव देखेंगे।

Shri Durga Chalisa MP3 Download

Shri Durga Chalisa Mp3 सुनें. यहाँ क्लिक करें

Shri Durga Chalisa Image Download

श्री दुर्गा चालीसा को इमेज फाइल HD में डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Download Shri Durga Chalisa Image

Shri Durga Chalisa PDF Download

श्री दुर्गा चालीसा को पीडीऍफ़ फॉर्मेट में डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

Shri Durga Chalisa download in PDF

Shri Durga Chalisa Lyrics in English

namo namo durge sukh karanee. namo namo durge duhkh haranee.
nirankaar hai jyoti tumhaaree. tihoon lok phailee ujiyaaree.
shashi lalaat mukh mahaavishaala. netr laal bhrkuti vikaraala.
roop maatu ko adhik suhaave. darash karat jan ati sukh paave.1.

tum sansaar shakti lai keena. paalan hetu ann dhan deena.
annapoorna huee jag paala. tum hee aadi sundaree baala.
pralayakaal sab naashan haaree. tum gauree shivashankar pyaaree.
shiv yogee tumhare gun gaaven. brahma vishnu tumhen nit dhyaaven.2.

roop sarasvatee ko tum dhaara. de subuddhi rshi munin ubaara.
dharayo roop narasinh ko amba. paragat bhee phaadakar khamba.
raksha kari prahlaad bachaayo. hiranyaaksh ko svarg pathaayo.
lakshmee roop dharo jag maaheen. shree naaraayan ang samaaheen.3.

ksheerasindhu mein karat vilaasa. dayaasindhu deejai man aasa.
hingalaaj mein tumheen bhavaanee. mahima amit na jaat bakhaanee.
maatangee aru dhoomaavati maata. bhuvaneshvaree bagala sukh daata.
shree bhairav taara jag taarinee. chhinn bhaal bhav duhkh nivaarinee.4.

kehari vaahan soh bhavaanee. laangur veer chalat agavaanee.
kar mein khappar khadg viraajai .jaako dekh kaal dar bhaajai.
sohai astr aur trishoola. jaate uthat shatru hiy shoola.
nagarakot mein tumheen viraajat. tihunlok mein danka baajat.5.

shumbh nishumbh daanav tum maare. raktabeej shankhan sanhaare.
mahishaasur nrp ati abhimaanee. jehi agh bhaar mahee akulaanee.
roop karaal kaalika dhaara. sen sahit tum tihi sanhaara.
paree gaadh santan ra jab jab. bhee sahaay maatu tum tab tab.6.

amarapuree aru baasav loka. tab mahima sab rahen ashoka.
jvaala mein hai jyoti tumhaaree. tumhen sada poojen naranaaree.
prem bhakti se jo yash gaaven. duhkh daaridr nikat nahin aaven.
dhyaave tumhen jo nar man laee. janmamaran taakau chhuti jaee.7.

jogee sur muni kahat pukaaree.yog na ho bin shakti tumhaaree.
shankar aachaaraj tap keeno. kaam aru krodh jeeti sab leeno.
nishidin dhyaan dharo shankar ko. kaahu kaal nahin sumiro tumako.
shakti roop ka maram na paayo. shakti gaee tab man pachhitaayo.8.

sharanaagat huee keerti bakhaanee. jay jay jay jagadamb bhavaanee.
bhee prasann aadi jagadamba. daee shakti nahin keen vilamba.
moko maatu kasht ati ghero. tum bin kaun harai duhkh mero.
aasha trshna nipat sataaven. moh madaadik sab binashaaven.9.

shatru naash keejai mahaaraanee. sumiraun ikachit tumhen bhavaanee.
karo krpa he maatu dayaala. rddhisiddhi dai karahu nihaala.
jab lagi jioon daya phal paoon . tumharo yash main sada sunaoon .
shree durga chaaleesa jo koee gaavai. sab sukh bhog paramapad paavai.10.


EmoticonEmoticon